भारत-चीन बाॅर्डर पर भारी बरसात के बाद भूस्खलन से लिपूलेख सड़क बंद, 40 से जादा कैलास यात्री फंसे

10

भारत-चीन बाॅर्डर पर भारी बरसात के बाद भूस्खलन से लिपूलेख सड़क बंद, 40 से जादा कैलास यात्री फंसे

भारी बारिश के बाद सीमांत पिथौरागढ़ में जन जीवन पटरी से उतर गया है। तवाघाट लिपूलेख सड़क कई जगह बंद हो गई है इसके कारण यात्री बुरी तरह फाँस गया है , मार्ग के बंद हो जाने से आदि कैलास के दर्शन कर लौट रहे 40 यात्री बूंदी में दो दिन से फंसे रहे। भारी बारिश के बाद सीमांत पिथौरागढ़ में जन जीवन पटरी से उतर गया है। तवाघाट लिपूलेख सड़क कई जगह बंद हो गई है। इस मार्ग के बंद हो जाने से आदि कैलास के दर्शन कर लौट रहे 40 यात्री बूंदी में दो दिन से फंसे रहे। जिसमें केएमवीएन के 17वें दल में आदि कैलाश की परिक्रमा कर लौट रहे 25 तथा 15 अन्य यात्री शामिल हैं।
इस सड़क के बंद रहने से माइग्रेशन गांवों के लोगों को भी दिक्कत हो रही है। तवाघाट लिपूलेख सड़क मालपा, नजंग और पेलस्ती झरने के पास भारी बारिश और भूस्खलन से बंद है। साथ ही, कुछ जगह मार्ग चौड़ीकरण के लिए की गई ब्लास्टिंग से भी भारी बोल्डर सड़क पर आ गए हैं। शुक्रवार को सड़क दो जगह पर बंद रहने से 17वें आदि कैलास यात्री दल के 25 तथा अन्य 15 यात्री बूंदी में फंसे हैं। सड़क पर भारी मात्रा में बोल्डर आने से बीआरओ को सड़क खोलने में दिक्कतें आ रही है। प्रशासन यात्रियों को हेलीकाप्टर से यात्रियों को निकालने का निर्णय लिया है। सभी यात्री की रक्षा हेतु यह निर्णय लिया गया है।

National Desk, Ne India News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here