बिहार के 35 जिलों में सूखा पर गया जमीन एक-दो दिन में बारिश नहीं हुई तो और बिगड़ेंगे हालात

11

बिहार के 35 जिलों में सूखा पर गया जमीन एक-दो दिन में बारिश नहीं हुई तो और बिगड़ेंगे हालात

बिहार के 35 जिलों में मानसून की बेरुखी से तक कम बारिश हुई है। ऐसे में इन जिलों में सूखे का संकट गहरा गया है। अगर एक-दो दिन में बारिश नहीं हुई तो हालात और भी बिगड़ सकते हैं।
बिहार में इस मानसूनी सीजन सामान्य से कम बारिश होने से 35 जिलों में सूखे के हालात ,इन जिलों में सामान्य से 36 फीसदी कम बारिश हुई है। ऐसे में हालात बिगड़ते जा रहे हैं। इनमें अरवल, औरंगाबाद, बांका, भागलपुर, भोजपुर, लखीसराय, कटिहार और अन्य शामिल हैं। अगर एक दो-दिन में बारिश नहीं हुई तो हालात और भी खराब हो जाएंगे।
जल संसाधन विभाग ने बिहार में सूखे की समीक्षा की तो ये हालात सामने आए। विभाग ने 1 जून 2022 से अब तक बारिश के आंकड़ों का विश्लेषण किया तो चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। इस दौरान पता चला कि राज्य में अब तक सामान्य से 36 फीसदी कम बारिश की हुई है। जुलाई के आंकड़े तो और भी खराब है, मौजूदा महीने में राज्य में जितने बादल बरसने चाहिए थे उसमें बारिश की मात्रा कमी दर्ज की गई।
बारिश कि कमी की वजह से बिहार में संकट के आ परि जिसके कारण जमीन कि सूखा पन जादा हो रही हैं, सभी के लिए संकट फिर जाने के कारण नीतीश सरकार ने यूपी से माँगा पानी। पानी की कमी से जमीन बंजर पर गया अगर मौसम में सुधार नहीं आए तो लगभग जमीन की साथ ही लोगों का भी असुविधा बढ़ जाएगी।
और सूखे के गहराते संकट के बीच बिहार ने उत्तर प्रदेश से अपने हिस्से का पानी मांगा है। इस संबंध में जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा ने यूपी के जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह से फोन पर बात की। उन्होंने रिहंद जलाशय से बिहार के लिए पानी छोड़ने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि रिहंद जलाशय से बिहार को पिछले कुछ दिनों से पानी नहीं मिल पाने के कारण दक्षिण बिहार में सोन नहर प्रणाली में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित करने में दिक्कत आ रही है।

National Desk, Ne India News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here